मध्य प्रदेश अंतरजातीय विवाह योजना [ 2.5 लाख रूपय ] ऑनलाइन आवेदन

मध्य प्रदेश अंतरजातीय विवाह योजना, अंतरजातीय विवाह योजना, अंतरजातीय विवाह योजना मध्य प्रदेश, मध्य प्रदेश अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना

महत्वपूर्ण बातें मध्य प्रदेश की सरकार अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना के तहत 5 लाख रूपय की नगद राशि कर दी गई है | यह नगद राशि दोनों पति-पत्नी के जॉइंट  खाते में 8 वर्ष के लिए फिक्स डिपाजिट कर दिया जाएगा | इस राशि का 2.5 लाख रूपय नगद दे दिया जाएगा बाकी का पैसा बैंक अकाउंट में रहेगा| इस राशि का उपयोग दंपत्ति अपने जीवन के घरेलू उपयोग आदि सामान खरीदने के लिए कर सकते हैं | मध्य प्रदेश सरकार अपने राज्य के नौजवानों को अंतरजातीय विवाह के लिए प्रोत्साहित करना चाहती है |

दोस्तों आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से मध्य प्रदेश अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना के बारे में बताने जा रहे हैं | इस योजना के तहत हम आपको यह बताने जा रहे हैं कि आप किस प्रकार इस योजना का लाभ ले सकते हैं | और किस प्रकार ऑनलाइन आवेदन करके इस योजना का किस प्रकार लाभ उठा सकते हैं | इसीलिए हमारे इस आर्टिकल को ध्यानपूर्वक पढ़िए |

मध्य प्रदेश अंतरजातीय विवाह योजना

मध्य प्रदेश अंतरजातीय विवाह योजना

अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत मध्य प्रदेश की सरकार अपने राज्य के नौजवानों को अंतर्जातीय विवाह के लिए प्रोत्साहित कर रही है इस योजना के लिए मध्य प्रदेश की सरकार ने 5 लाख रूपय की राशि प्रदान करेगी | यदि कोई लड़का या लड़की किसी छोटी जनजाति परिवार में अपनी शादी करता है तो राज्य सरकार उसके लिए 5 लाख की राशि देगी | इस योजना के  तहत मध्य प्रदेश सरकार इंटर कास्ट मैरिज को प्रोत्साहित कर रही है | इस योजना के तहत मध्य प्रदेश सरकार जात-पात को खत्म करना चाहती है | और नगद राशि देकर लोगों को प्रोत्साहित करना चाहती है इस योजना का यही एकमात्र मुख्य उद्देश्य है |

मध्य प्रदेश अंतरजातीय विवाह योजना

मध्य प्रदेश सरकार इंटर कास्ट मैरिज करने वाले नवविवाहित दंपति के लिए मध्य प्रदेश अंतरजातीय विवाह योजना की शुरुआत की है | राज्य सरकार ने अंतर जाति विवाह का रजिस्ट्रेशन हिंदू मैरिज एक्ट 1955 के तहत नवविवाहित दंपति को अपना रजिस्ट्रेशन करवाना अनिवार्य है | योजना का लाभ लेने के लिए विवाहित दंपति को 1 साल के अंदर ही आवेदन करना होगा | योजना का लाभ लेने के लिए नवविवाहित दंपति में से कोई एक स्वर्ण जाति से संबंध रखता है दूसरा अनुसूचित जाति एवं जनजाति समूह से संबंध रखता हो |

  • योजना का नाम  – मध्य प्रदेश अंतरजातीय विवाह योजना
  • किसके द्वारा शुरू की गई – राज्य के मुख्यमंत्री द्वारा
  • किस राज्य में शुरू की गई – मध्य प्रदेश
  • प्रोत्साहन राशि   – 2.50 लाख रूपय
  • योजना के लिए पात्रता  – इंटर कास्ट मैरिज करने वाली नवविवाहित दंपति

योजना का लाभ लेने के लिए उम्मीदवार के पास उम्र जाति एवं मूल निवास प्रमाण पत्र होना अनिवार्य है | बिना इन दस्तावेजों के नवविवाहित दंपति इस योजना का लाभ नहीं ले सकते हैं |

जो कोई भी मध्य प्रदेश का लड़का लड़की इस योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन या रजिस्ट्रेशन करवाना चाहता है | वह आवेदनकर्ता हमारे इस आर्टिकल को ध्यानपूर्वक पढ़ें क्योंकि हम अपने इस आर्टिकल के माध्यम से आपको यह बताएंगे कि आप को इस योजना का लाभ लेने के लिए क्या-क्या पात्रता रखी गई है | और इसके लिए आपको कौन-कौन से जरूरी दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी | इसलिए हमारे इस आर्टिकल को ध्यान पूर्वक पढ़ लीजिए  |

मध्य प्रदेश अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना के लाभ

  • इस योजना से अंतर जाति विवाह करने पर जाति का भेदभाव खत्म होगा |
  • जो कोई मध्य प्रदेश का व्यक्ति अंतर जाति विवाह करता है तो राज्य सरकार उसे भी सहायता देगी |
  • मध्य प्रदेश की सरकार इसके लिए दंपत्ति को 2.5 लाख रूपय वित्तीय सहायता प्रदान करेगी |
  • अंतर जाति विवाह योजना से दंपत्ति को सबसे ज्यादा लाभ यह होगा कि शादी के बाद होने वाले खर्चों के लिए राज्य सरकार वित्तीय सहायता प्रदान करेगी |

 अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना के लिए प्रोत्साहित राशि

  • मध्य प्रदेश की सरकार शादी किए हुए दंपत्ति की सुखद जीवन को सुनिश्चित करने के लिए 2.5 लाख रूपय की मदद देगी |
  • यह फिक्स्ड डिपॉजिट कर दी जाएगी राशि अगले 8 वर्ष के लिए जमा कर दी जाएगी |
  • नाटक सहायता राशि संयुक्त बैंक अकाउंट के माध्यम से प्रदान की जाएगी |

अंतरजातीय विवाह योजना के लिए योग्यता

  • आवेदनकर्ता मध्य प्रदेश का स्थाई निवासी होना चाहिए | अन्य राज्य के निवासी इस योजना का लाभ नहीं ले सकते |
  • आवेदन करने वाले की आयु 35 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए |
  • विवाह करने वाले के पास विवाह प्रमाण पत्र होना आवश्यक है |
  • जो कोई भी इस योजना का लाभ लेना चाहता है | उसकी वार्षिक आय 2.50 लाखों रुपए से अधिक नहीं होनी चाहिए |
  • इस योजना का लाभ लेने वाले व्यक्ति की पहली शादी होनी चाहिए |
  • इस योजना का लाभ आपको 1 साल के अंदर ही लेना होगा |

 जरूरी कागजात

  1. आवेदनकर्ता के पास आधार कार्ड होना अनिवार्य है |
  2. आवेदक के पास मध्य प्रदेश का स्थाई प्रमाण पत्र होना आवश्यक है |
  3. आवेदन करने वाले के पास जन्म प्रमाण पत्र होना चाहिए |
  4. विवाहित जोड़े के पास एकसाथ फोटो होना चाहिए |
  5. आवेदनकर्ता के पास आय प्रमाण पत्र होना चाहिए |
  6. आवेदक के पास वोटर ID कार्ड होना भी अनिवार्य है |
  7. विवाह प्रमाण पत्र होना भी अनिवार्य है | बिना विवाह प्रमाणपत्र के आप इस योजना का लाभ नहीं ले सकते |

मध्य प्रदेश अंतरजातीय विवाह योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन

मध्य प्रदेश अंतरजातीय विवाह योजना

  • इस वेबसाइट पर क्लिक करने के बाद आपको मध्य प्रदेश अंतरजातीय विवाह योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन फॉर्म दिखाई देगा |

मध्य प्रदेश अंतरजातीय विवाह योजना

  • फॉर्म में दी हुई जानकारी को ध्यान पूर्वक पढ़ लीजिए |
  • ध्यानपूर्वक पढ़ने के बाद आप इस फॉर्म को भर दीजिए |
  • ध्यान रखिए आप कोई भी जानकारी गलत नहीं भर सकते वरना आपका फोन गलत माना जाएगा |
  • नवविवाहित दंपति मै से जिसमें  बर या वधू जिसमें एक स्वर्ण वर्ग जाति को संबंध रखता है और दूसरा अनुसूचित जाति से संबंध रखता हो उन दोनों को इस योजना का लाभ लेने के लिए जिला अधिकारी को प्रार्थना पत्र लिखकर देना होगा |
  • आवेदन करने के साथ-साथ नवदंपत्ति के विवाह की तारीख उम्र,जाति एवं मूल निवास प्रमाण पत्र में लिखे होने चाहिए |
  • इसके बाद आवेदन पत्रों का निरीक्षण किया जाएगा और फिर निरीक्षण होने के बाद नव दंपत्तियों का चयन किया जाएगा  |

दोस्तों आज हमने आपको मध्य प्रदेश अंतरजातीय विवाह योजना के बारे में बताया | हमने अपने इस आर्टिकल के माध्यम से आपको बताया कि आप किस प्रकार इस योजना का लाभ ले सकते हैं और किस तरह ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं |हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको कैसी लगी या योजना से जुड़े कोई भी आप हमसे पूछ सकते हैं हम आपके प्रश्नों का अवश्य ही देंगे धन्यवाद |

मध्य प्रदेश योजनाएं – मेधावी छात्र प्रोत्साहन योजना मध्य प्रदेश | लैपटॉप योजना

शेयर करना ना भूले

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *