[ HR ] हरियाणा भावांतर भरपाई योजना 2018 पंजीकरण ऑनलाइन

हरियाणा भावांतर भरपाई योजना 2018-  इस योजना के तहत किसानों को बागवानी उत्पादकों के लिए मंडी में उनके उत्पाद को कम दाम मिलने पर राज्य सरकार या तो मुआवजा देगी या फिर किसानों को हुए घाटे की कीमत देगी | हरियाणा भावांतर भरपाई योजना किसानों को उनकी फसलों की विविधता में सहायता करने के साथ-साथ निश्चित न्यूनतम समर्थन मूल्य सुनिश्चित भी करेगी | 

दोस्तों आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से एक नई योजना के बारे में बताने जा रहे हैं | इसका नाम हरियाणा भावांतर भरपाई योजना  है | अपने आर्टिकल के माध्यम से हम आपको यह बताने जा रहे हैं कि आप किस प्रकार इस योजना का लाभ ले सकते हैं और किस प्रकार आप ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं |

भावांतर भरपाई योजना हरियाणा 2018

हरियाणा भावांतर भरपाई योजना 2018

दोस्तों हरियाणा सरकार अब अपने किसानों के लिए एक नई योजना की शुरुआत करने जा रही है जिसका नाम हरियाणा भावंतर भरपाई योजना रखा गया है | इस योजना के तहत किसानों को बागवानी उत्पादकों के लिए मंडी में उनके उत्पाद को कम दाम मिलने पर राज्य सरकार या तो मुआवजा देगी या फिर किसानों को हुए घाटे की कीमत देगी | हरियाणा भावांतर भरपाई योजना 2018 किसानों को उनकी फसलों की विविधता में सहायता करने के साथ-साथ निश्चित न्यूनतम समर्थन मूल्य सुनिश्चित भी करेगी | और किसानों को हो रहे घाटे को कम करने के लिए राज्य सरकार मदद भी देगी |

हरियाणा भावांतर भरपाई योजना 2018 चलाने का उद्देश्य

  • हरियाणा सरकार इस योजना को चलाकर किसानों को हो रहे घाटे को कम करना चाहती है |
  • इस योजना को चलाकर राज्य सरकार किसानों के लिए निश्चित न्यूनतम समर्थन मूल्य सुनिश्चित करेगी |
  • ताकि किसानों को उनकी फसल का अच्छा मुआवजा मिल सके |
  • इस योजना को चलाकर राज्य सरकार किसानों को मंडी में मिलने वाले कम दामो से छुटकारा मिलेगा और वह सीधे अपनी फसलों को सरकार को बेच सकते हैं और उचित मूल्य प्राप्त कर सकते हैं |
  • अब हम आपको यह बताएं कि आप किस प्रकार ऑनलाइन पंजीकरण कर सकते हैं और हरियाणा भावांतर भरपाई योजना 2018 कब तक और आप किस प्रकार ऑनलाइन पंजीकरण कर सकते हैं बताने जा रहे हैं | और किस प्रकार आप इस योजना का लाभ ले सकते हैं

हरियाणा भावांतर भरपाई योजना 2018 ऑनलाइन पंजीकरण 

इस योजना का लाभ उठाने के लिए ऑनलाइन पंजीयन करना अनिवार्य है हम बताने जा रहे हैं कि किस प्रकार आप ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं |

हरियाणा भावांतर भरपाई योजना 2018

  • क्लिक करने के बाद आप को राज्य सरकार की कई योजनाएं मिलेंगी वहां पर आपको हरियाणा भावंतर योजना पर क्लिक करना है |
  • इसके बाद आपको वहां पर किसान पंजीकरण खोलने के लिए यहां पर क्लिक करें |

हरियाणा भावांतर भरपाई योजना 2018

  • किसान पंजीकरण फॉर्म खोलने के लिए किसान पंजीकरण लिंक पर क्लिक करें
  • इसके बाद किसान पंजीकरण के लिए अगले खंड में तारीखें नीचे दी गई हैं आप किस दिन पंजीकरण कर सकते हैं यह नीचे बताया गया है
  • उम्मीदवार भावांतर भरपाई योजना का लाभ उठाने के लिए दिशा निर्देश पढ़ सकते हैं और ऑनलाइन फॉर्म भर सकते हैं

हरियाणा भावांतर भरपाई योजना 2018

  • हरियाणा भावांतर भरपाई योजना 2018के लिए पंजीकरण कब करें
  • हरियाणा के किसान निर्धारित समय में भावांतर भरपाई योजना के लिए पंजीकरण कर सकते हैं जो इस प्रकार ह

क्रम संख्या       फसलों का नाम       बीज बोने का समय         पंजीकरण का समय                फसल बेचना   

  1.               आलू                 10 अक्टूबर से 10 नवंबर           10 अक्टूबर से 30 नवंबर       फरवरी से मार्च
  2.               प्याज               20 दिसंबर से 31 जनवरी          20 दिसंबर से 28 फरवरी        अप्रैल से मई
  3.              टमाटर              15 दिसंबर से 31 जनवरी           15 दिसंबर से 28 फरवरी          अप्रैल से 15 जून
  4.             फूल गोभी           15 नवंबर से 15 दिसंबर              30 दिसंबर से 15 जनवरी        फरवरी से मार्च

हरियाणा भावंतर भरपाई योजना 2018 के लिए पंजीकरण

इस योजना का लाभ लेने के लिए किसानों को निम्नलिखित चरणों का पालन करना होगा

  • किसानों को बीज बोने की अवधि के दौरान, सभी किसानों को बागवानी विभाग में भावांतर भरपाई योजना के लिए e- पोर्टल अथवा हरियाणा राज्य विपणन बोर्ड (HSAMB) की वेबसाइट पर पंजीकृत कराना अनिवार्य है |
  • उद्यान विभाग द्वारा पंजीकृत किसानों का क्षेत्र प्रमाणीकरण होना अनिवार्य है |
  • यदि एक किसान प्रमाणित क्षेत्र से असंतुष्ट है तो वह इसका प्रावधान करने के लिए अपील दायर कर सकता है |
  • किसान भावांतर भरपाई योजना के लिए निर्माता/ b निर्माण के लिए निशुल्क पंजीकरण |
  • यह सभी पंजीकृत उपयुक्त समय सीमा के लिए खुला रहेगा |
  • सामान्य सेवा केंद्र/ मार्केटिंग विभाग/ ई दिशा केंद्र/ बागवानी विभाग / कृषि विभाग / और इंटरनेट सुविधा प्रदान करेंगे |
  • जांच एवं अपील जारी करना, पंजीकरण, बिक्री अवधि उपयुक्त तिथियों के भीतर मान्य है |

हरियाणा भावांतर भरपाई योजना का प्रथम चरण

जैसे की हम सभी जानते हैं कि हरियाणा सरकार ने भावांतर भरपाई योजना के लिए पहले चरण में 4 फ़सलों को शामिल किया है  और यह चार फसलें टमाटर, आलू, प्याज और फूल गोभी हैं | अब हम नीचे आपको फसलों का उत्पादक मूल्य रुपए प्रति क्विंटल के बारे में बताने जा रहे हैं जो नीचे इस प्रकार दिया गया है |

क्रम संख्या     फसल का नाम      समर्थन मूल्य प्रति क्विंटल      अनुसूचित उत्पादन क्विंटल/ एकड़

  1.                               आलू                 400                                         120
  2.                               प्याज                500                                         100
  3.                              टमाटर               400                                         140
  4.                            फूल गोभी             500                                         100

टोल फ्री हेल्पलाइन

अधिक जानकारी के लिए उम्मीदवार हरियाणा सरकार की टोल फ्री हेल्पलाइन पर कॉल कर सकते हैं जो कि नीचे दी गई है |

हेल्पलाइन नंबर – 1800-180-2060

या फिर उम्मीदवार हरियाणा सरकार की आधिकारिक इमेल पर भी मेल कर सकते हैं जो कि इस प्रकार है |

ईमेल –  hsamb@hry.nic.in

दोस्तों आज हमने आपको “हरियाणा भावांतर भरपाई योजना 2018” के बारे में बताया | आपको यह जानकारी कैसी लगी और इस योजना से जुड़ी कोई भी प्रश्न आप हमसे पूछ सकते हैं | हम आपके प्रश्नों का उत्तर अवश्य देंगे धन्यवाद |

पंजीकरण ऑनलाइन ( Important Links ) – 

http://mpeuparjan.nic.in/WPMS2018/KisaanAdmitCard.aspx

http://mpeuparjan.nic.in/WPMS2018/Frm_farmerDetails.aspx

शेयर करना ना भूले

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *